ओमीक्रॉन वैरिएंट: जानिए कितना खतरनाक है कोविड का यह नया वैरिएंट Omicron

 

omicron virus kya hai, omicron varient kya hai, omicron varient kitna khatarnak hai

कोविड वायरस का सबसे खतरनाक रूप हमने दूसरी लहर के तौर पर अभी हाल में ही देखा है जब डेल्टा वेरिएंट ने भारत में तबाही मचाई थी और हजारों लोगों को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा था। 
 
मौत का यह तांडव लोगों ने पहली बार अपने जीवन में देखा था। हर तरफ सिर्फ बेबसी और चीत्कार ही सुनाई पड़ रहा था। किसी तरह दुनियां इस वायरस से उबर ही पाई थी की अभी हाल में ही एक खबर ने पूरी दुनियां को फिर से दहशत में डाल दिया है। 
 
साउथ अफ्रीका में हाल में ही कोविड का एक नया वेरिएंट मिला है ओमीक्रॉन, जो डेल्टा वेरिएंट से कहीं ज्यादा खतरनाक है। इसके कारण कई देशों ने अपने यहां आने जाने वालों पर पाबंदी लगा दी है और कई देश लॉक डॉउन की तैयारी में लग गए हैं।

क्या है ओमीक्रॉन वायरस


अप्रैल 2021 की शुरुआत में फैले डेल्टा वेरिएंट में सिर्फ दो म्यूटेशन हुए थे और इसने इतनी तबाही मचा दी थी। वहीं ओमीक्रॉन वैरिएंट में कुल 50 म्यूटेशन हुए हैं। 
 
यह कोविड वायरस में हुआ अब तक का सबसे बड़ा म्यूटेशन है। इससे आप इस वायरस की गंभीरता का अंदाजा लगा सकते हैं। 
 
किसी भी वायरस में स्पाइक प्रोटीन वायरस का वह हिस्सा होता है जिसकी सहायता से वायरस हमारे शरीर में प्रवेश करता है। ओमीक्रॉन वैरिएंट के स्पाइक प्रोटीन में 30 परिवर्तन हुए हैं जिसकी वजह से यह वैक्सीन को भी धोखा देने में सक्षम है। 
 
क्योंकि वैक्सीन इन्हीं स्पाइक प्रोटीन पर टारगेट करती है और फिर इनको पहचान कर इनको रोकने का काम करती है। 
 
लेकिन जब ये सूचना हमारी बॉडी के इम्यून सिस्टम को है ही नहीं की ये कौन सा स्पाइक प्रोटीन है तो वैक्सीन इसके विरुद्ध काम ही नहीं कर पाती। हालांकि यह अभी शोध का विषय है लेकिन है यह एक खतरे की घंटी ही। 
 
इसके साथ ही इस वैरिएंट के बाइंडिंग डोमेन में 10 म्यूटेशन हो चुके हैं, बाइंडिग डोमेन वह पार्ट होता है जिससे वायरस खुद को मानव कोशिका से जोड़ता है।
 
ओमीक्रॉन वैरिएंट डेल्टा वैरिएंट की तुलना में बहुत ही तेजी से फैलता है। हालांकि अभी तक इसके लक्षण इतने घातक नहीं दिखाई दिए हैं लेकिन हर वायरस हर शरीर पर अलग तरह से काम करता है। 
 
जैसे डेल्टा वैरिएंट ने भारत में जितनी तबाही मचाई थी उतनी किसी और देश में नहीं कर पाया, इसलिए हमें पहले से तैयार रहना होगा। ओमीक्रॉन वैरिएंट के लक्षण डेल्टा वेरिएंट के लक्षण की तरह ही हैं
 
मास्क और सेनेटाइजर का लगातार इस्तेमाल करें अपनी इम्म्यूनिटी को मजबूत रखें, विटामिन C  और विटामिन D की प्रॉपर डाइट लेते रहें और इसको कतई हल्के में ना लें। 
 
हम पहले भी इसको हल्के में लेने का परिणाम भुगत चुके हैं। अच्छी बात यह है की इस बार लोगों को कोविड होने पर क्या क्या करना चाहिए ये पता है। 

जिन-जिन लोगों को वैक्सीन की दोनों डोज़ लग चुकी है उनपर ये वैरिएंट कम असर कर सकता है लेकिन अभी तक इसके बारे में कुछ भी कहना बहुत ही जल्दबाज़ी होगी
 
 
👇👇👇
 
 
👆👆👆

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top