गैस एजेंसी में कितनी कमाई होती है | Gas agency kaise khole in hindi

lpg gas agency kaise khole

 

LPG गैस एजेंसी लेना भारत में सबसे फायदेमंद फ्रेंचाइजी मॉडल (gas agency kaise khole in hindi) माना जाता है।
 
LPG गैस भारत में सबसे अधिक इस्तेमाल किया जाने वाला ईंधन है।  
 
भारत के हर एक घर में आपको LPG सिलेंडर मिल जायेगा। यह एक ऐसा बिजनेस है जो कभी खत्म नहीं हो सकता है। 
 
हमारे किचन में इस्तेमाल होने वाले गैस सिलेंडर की मांग हमेशा बनी रहेगी। यह बिजनेस मॉडल बहुत ही अच्छी कमाई करके देता है।
 

गैस एजेन्सी के लिए कैसे आवेदन करें Gas agency kaise khole in hindi

आपको
जिस भी कम्पनी की गैस एजेन्सी लेनी है उसकी वेबसाईट पर जाकर एलिजिबिलिटी
क्राइटेरिया चेक कर लेना चाहिए। 
 
गैस कम्पनी समय-समय पर एजेंसी के लिए आवेदन
निकाला करती हैं, आवेदन पेपर में भी आते हैं। 
 
आवेदन के लिए जरूरी सारी
जानकारी वेबसाईट और आवेदन पत्र में लिखी रहती है।

कुछ जरूरी योग्यताएं निम्न हैं

1) आवेदक भारत का नागरिक हो

2) आवेदक 10th पास होना चाहिए

3) पुरुष और महिला कोई भी आवेदन कर सकता है

4) गैस एजेन्सी डीलरशिप के लिए न्यूनतम आयु 21 साल और अधिकतम आयु 60 साल होती है

5) आवेदक का कोई अपराधिक रिकॉर्ड नहीं होना चाहिए

6) आवेदक के परिवार का कोई भी व्यक्ती गैस कम्पनी में कर्मचारी नहीं होना चाहिए

7) आवेदक के पास गैस गोदाम के लिए निर्धारित जगह होनी चाहिए

8) ऑफिस के लिए भी जगह होनी चाहिए

बाकी की अन्य अहर्ताए वेबसाईट में या विज्ञापन में लिखी होती हैं।

इंडियन ऑयल इंडेन की एजेंसी देती है जबकि भारत पेट्रोलियम भारत गैस और HP गैस की एजेंसी देती है।
 

गैस एजेंसी खोलने में कितना खर्च आता है

गैस एजेंसी खोलने के लिए आपको संबंधित विभाग में एप्लीकेशन देना होता है। एप्लिकेशन फीस शहर और गांव में अलग अलग होती है। 
 
शहर में गैस एजेंसी खोलने के लिए सामान्य वर्ग को 10,000 रुपए फीस देनी पड़ती है, OBC वर्ग को 5,000 रुपए और SC वर्ग को 3,000 रुपए फीस देनी होती है।

वहीं गांव के क्षेत्र में सामान्य वर्ग को 8,000 फीस देनी पड़ती है, OBC वर्ग को 4,000 रुपए फीस देनी पड़ती है और SC वर्ग को 2,500 रुपए की फीस देनी पड़ती है।
 
जब आपका आवेदन स्वीकृत कर लिया जाता है तो आपको सारे कागजों सहित सिक्योरिटी डिपॉजिट का 10% जमा करना पड़ता है यह डिपॉजिट नॉन रिफंडेबल होता है। 
 
शहरी क्षेत्रों में सिक्योरिटी डिपॉजिट 5 लाख रुपए और ग्रामीण क्षेत्रों में यह सिक्योरिटी डिपॉजिट 4 लाख रुपए होता है। 
 
OBC और SC का सिक्योरिटी डिपॉजिट कम होता है।
 

गैस गोदाम के लिए कितनी जगह होनी चाहिए

जो लोग गैस एजेंसी के लिए आवेदन करना चाहते हैं उनके पास कम से कम 25*30 मीटर की जगह होनी चाहिए।

जो लोग दुर्गम स्थानों में रहते हैं उनके लिए कम से कम 15*16 मीटर की जगह होनी चाहिए।

एजेंसी देने में किन लोगों को प्राथमिकता दी जाती है

गैस एजेन्सी देने में 50% का कोटा सामान्य वर्ग का होता है और बाकी के 50% में आरक्षण होता है। 
 
इसके अलावा स्वतंत्रता सेनानी, भूतपूर्व सैनिक, सशस्त्र बल, पुलिस सेवा, खिलाड़ी, शारीरिक रूप से अक्षम आदि लोगों को वरीयता दी जाती है।
 

गैस गोदाम बनाने के नियम

गैस एजेन्सी लेने के लिए गैस गोदाम के नियम का पालन बहुत जरूरी है अन्यथा एजेंसी नहीं मिलती है जैसे

1) गोदाम के चारों ओर कम से कम 7 से 9 मीटर की जगह खुली होनी चाहिए

2) फायर विभाग से एनओसी होनी चाहिए

3) गोदाम में मेस्टिंग फ्लोरिंग होनी चाहिए ताकि सिलेंडर उतरते वक्त चिंगारी ना निकले

4) एक्सप्लोसिव विभाग द्वारा भी एनओसी होनी चाहिए

5) घनी आबादी में एजेंसी नहीं मिल सकती

6) फूड एंड सप्लाई विभाग की भी एनओसी होनी चाहिए
 

गैस एजेंसी में कमाई कैसे होती है

गैस एजेन्सी वालों को प्रति सिलेंडर 65 रुपए कमिशन मिलता है। 
 
एक महीने में वो करीब 5,000 सिलेंडर बड़ी आसानी से बेच लेते हैं। 
 
इस तरह से 5,000 सिलेंडर बेचने पर वो 3,25,000 का मार्जिन कमा लेते हैं।
 
अगर इसमें से बाकी खर्चे निकाल दें तो भी 2,50,000 तक प्रति महीने बहुत ही आसानी से बच जाता है।
 
 
 
👇👇👇 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top