दानी जनजाति: ऐसी जनजाति जहां घर में कोई मृत्यु होने पर काट दी जाती हैं महिलाओं की उंगलियां

dani tribe history, dani tribe culture


 

दुनियां के हर कोने में कोई ना कोई जनजाति या कबीला जनजाति पाई जाती है। ऐसे लोग जंगलों में रहना पसंद करते हैं और अजीब अजीब सी परंपराएं अपने अंदर समेटे हुए रहते हैं। 

 

ये जनजातियां अभी भी सदियों पुराने रीति रिवाज मानते हैं। कुछ परंपराएं तो बहुत ही हैरान परेशान करने वाली होती हैं। 

 

आज हम ऐसी ही एक जनजाति के बारे में बताएंगे जहां घर में किसी की मौत होने पर घर की महिलाओं की उंगलियां काट दी जाती हैं। 

 

 

दानि जनजाति की परंपरा


इंडोनेशिया के पापुआ न्यू गिनी द्वीप पर दानी जनजाति पाई जाती है। इनकी परंपराएं बहुत ही हैरान करने वाली होती हैं। 

 

दानी जनजाति में परिवार के किसी सदस्य की मृत्यु होने पर महिलाओं की उंगलियों को पहले किसी मजबूत रस्सी से कसकर बांध दी जाती है ताकि इसमें खून का प्रवाह रुक जाए और फिर उसके बाद कुल्हाड़ी से ऊंगली का ऊपरी भाग को काट देते हैं। 

 

फिर ऊंगली के कटे हुए भाग को जलाकर राख बना देते हैं और फिर उसको एक विशेष जगह पर रख देते है। दानी जनजाति का मानना है की ऐसा करने से मृतक की आत्मा को शांति मिलेगी। 

 

पुरूषों को भी अपनी ऊंगली का ऊपरी भाग काटना पड़ता है। लेकिन पुरुष ज्यादातर अपनी उंगलियां नहीं कटवाते इसलिए महिलाओं को ही अपनी उंगलियां कटवानी पड़ती है। 

 

अपने पूरे जीवन काल में यहां के महिलाओं और पुरूषों को कई बार अपनी उंगलियां कटवानी पड़ती हैं। ये लोग कटी हुई उंगलियों के ऊपर एक पाइप लगा लेते हैं। 

 

हालंकि इंडोनेशिया सरकार ने इस पर बैन लगा दिया है लेकिन फिर भी कई लोग आज भी इस परंपरा को फॉलो कर रहे हैं। 

 


शवों को ममी बना देते हैं


इसके अलावा दानी जनजाति घर में किसी सदस्य के मरने पर उसके शवों को दफनाते या जलाते नहीं हैं बल्कि शव को घर में ही रहने देते हैं और फिर उन शवों पर लगातार कई दिनों तक धुआं किया जाता है जिससे शव ममी में बदल जाते हैं। 

 

इस तरह दानी जनजाति अपने पारिवारिक सदस्यों के शव को संभाल कर सालों तक रखे रहते हैं। इसके अलावा ये लोग सुअर का शिकार करके उसके मांस को पकाने का उत्सव भी करते हैं। 

 

 

👇👇👇

 


कौन सी आपातकालीन दवाएं हमें हमेशा अपने घर में या यात्रा करते वक्त रखनी चाहिए 

 

👆👆👆 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top