पिज्जा इतना महंगा क्यों होता है, आईए जानते है इसके पीछे की वजह

pizza me kya kya padta hai

पिज्जा का नाम सुनते ही हम सबके मुंह में पानी आ जाता है। पूरे विश्व में पिज्जा सबसे ज्यादा पसंद किया जाता है। इटली से शुरू होने वाली ये डिश आज विश्व के हर कोने में पाई जाती है।

सबसे पहला पिज्जा नेपल्स ( इटली ) की रानी मार्गरीटा के नाम पर मार्गरीटा पिज्जा बनाया गया। हम भारतीयों को भी पिज्जा बहुत पसंद होता है लेकिन हम लोग पिज्जा से ज्यादा इसके प्राइस को लेकर चिंतित रहते हैं।

पिज्जा बहुत ही मंहगा आता है, जितनी कीमत में हम एक मीडियम साइज पिज्जा मंगाते हैं उतनी कीमत में तो एक मध्यमवर्गीय परिवार की हफ्ते भर की सब्जी आ जाती है।

हमारे घर में मम्मी तो कहती हैं की इसमें थोड़ा सा मैदा और कुछ सब्जियां ही तो होती हैं फिर ये इतना महंगा क्यों बिकता है? तो आइए आज समझते हैं की पिज्जा इतना महंगा क्यों होता है।


जानिए क्यों है महंगा


एक मध्यम आकार के पिज्जा में लगभग 100 ग्राम मोजरेला चीज़ का इस्तेमाल होता है। मोजरेला चीज़ की कीमत लगभग 500 रुपए प्रति किलो होती है। 
 
इसके साथ ही पिज्जा में टिंड ब्लैक ऑलिव ( काले वाले ऑलिव ) फल डाले जाते हैं इनको बाहर से मंगाया जाता है, जिनकी कीमत 1000 रुपए प्रति किलो होती है।
 
पिज्जा में फ्रेश मशरूम डाला जाता है जिसकी कीमत लगभग 300 रुपए किलो होती है। इसके साथ ही इसमें प्याज, टमाटर, शिमला मिर्च ईत्यादि सब्जियां भी डाली जाती हैं। 
 
इसके अलावा पिज्जा में फ्लेवर्स के लिए कुछ मसाले या हर्ब्स डाली जाती है जैसे ओरागानो, थाईम, रोजमैरी, मार्जोरेम, बेसिल, सेज ईत्यादि जो काफी महंगी आती हैं। 
 
इन हर्ब्स की कीमत 5000 रुपए प्रति किलो होती है। साथ ही पिज्जा का बेस और सॉस की भी कीमत होती है।
 
पिज्जा को बेक करने के लिए 12,000 वाट के ओवन का इस्तेमाल किया जाता है जो बहुत ज्यादा बिजली खर्च करते हैं। ये तो हुआ पिज्जा बनाने का खर्च। 
 
अब आते हैं पिज्जा बनाने वाली कम्पनी पर, आप जहां भी पिज्जा खाने जाते हैं वहां कम्पनी अपना आउटलेट किराए पर लेती है जिसका अच्छा खासा किराया होता है, इसके साथ ही आपको फुली एयरकंडीशंड और साफ सुथरी जगह मिलती है। 
 
पिज्जा आउटलेट में काम करने वाले स्टॉफ की सैलरी, डिलीवरी ब्वॉय की सैलरी, बिजली पानी का बिल, विज्ञापन का खर्चा ईत्यादि मिला दें तो आप खुद ही इसकी कीमत का अंदाजा लगा सकते हैं।
 
इसके अलावा पिज्जा कम्पनी कोई दान तो कर नहीं रहीं हैं, वो एक व्यापार कर रहीं हैं तो मुनाफा कमाना उनका मुख्य उद्देश्य होता है अब मुनाफा भी इसमें जोड़ लीजिए। 
 
यह सब कीमत मिला कर ही पिज्जा की कीमत बनाई जाती है और इसीलिए आपका मनपसंद पिज्जा इतना महंगा होता है।
 
 
 
👇👇👇
👆👆👆

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top