भारत के टॉप साइंस कॉलेज कौन से हैं | Top Science Colleges in India 2023

 

bharat ke top science college

आज हम जानेंगे भारत के टॉप साइंस कॉलेज (2023) के बारे में की ये कहां हैं और इनका इतिहास क्या रहा है। 
 
साइंस के स्टूडेंट्स के लिए भारत के टॉप साइंस कॉलेज में पढ़ना हमेशा एक सपना रहा है। 
 
इन टॉप साइंस कॉलेज में स्टूडेंट खुद को बेहतर तरीके से निखार सकते हैं और यहां इनको साइंस में रिसर्च करने के लिए सभी विश्वस्तरीय साधन और लैब्स उपलब्ध हैं।
 
हिंदू कॉलेज (दिल्ली) साइंस के क्षेत्र में भारत का सबसे प्रतिष्ठित कॉलेज है। 
 
इसकी स्थापना सन् 1899 में हुई थी और यह दिल्ली यूनिवर्सिटी से संबंधित है। यह साइंस के क्षेत्र में सबसे पुराने कॉलेजेस में एक है। 
 
हिंदु कॉलेज की स्थापना कृष्ण दास जी गुरवाले और राय बहादुर, अंबा प्रसाद ने की थी। 
 
उस समय यह चांदनी चौक के किन्नर बाजारी मार्केट में एक छोटी सी बिल्डिंग में शुरू हुआ था और पंजाब यूनिवर्सिटी से संबंधित था। 
 
कुछ समय बाद (1902) पंजाब यूनिवर्सिटी ने इसे बंद करने की चेतावनी दी थी की अगर हिन्दू कॉलेज को कोई बड़ा और उचित भवन नहीं मिलता तो इसे पंजाब यूनिवर्सिटी से हटा देंगे। 
 
राय बहादुर ने अपनी ऐतिहासिक जमीन जो कश्मीरी गेट पर थी कॉलेज को दान कर दी। 
 
हिंदू कॉलेज 1922 तक पंजाब यूनिवर्सिटी से ही लिंक रहा और जब दिल्ली यूनिवर्सिटी बनी तब यह 1922 में दिल्ली यूनिवर्सिटी से सम्बद्ध कर दिया गया। 
 
हिन्दू कॉलेज ने भारत के स्वतंत्रता आंदोलन में शामिल रहा है। हिंदू कॉलेज आज भारत का नंबर 1 साइंस कॉलेज है।
 

2 – मिरांडा हाउस

मिरांडा हाउस दिल्ली यूनिवर्सिटी से सम्बद्ध एक महिला कॉलेज है। 
 
इसकी गिनती भारत के टॉप साइंस कॉलेज में होती है। 
 
मिरांडा हाउस की स्थापना सन् 1948 में एक ब्रिटिश विद्वान सर मॉरिस लिनफोर्ड गेयर (Sir Maurice Linford Gwyer) द्वारा की गई थी। 
 
यह 1937 से 1943 तक भारत के मुख्य न्यायाधीश भी रहे थे। 
 
सर मॉरिस लिनफोर्ड गेयर को हॉलीवुड अभिनेत्री कारमेन मिरांडा बहुत पसंद थी उसी के नाम पर उन्होंने अपनी बेटी का नाम भी मिरांडा रखा था और इस यूनिवर्सिटी का नाम भी मिरांडा कर दिया। 
 
यहां से पास विद्यार्थियों को मिरांडियन कहा जाता है।
 

3 – सेंट स्टीफेंस कॉलेज

सेंट स्टीफेंस कॉलेज (दिल्ली) भारत का सबसे पुराने टॉप साइंस कॉलेज में से एक है इसकी स्थापना सन् 1854 में सैमुअल स्कॉट द्वारा एक स्कूल के रूप में की गई थी जो की यूनाइटेड किंगडम स्थित एक NGO द्वारा संचालित था।
 
सन् 1882 में इसे पंजाब यूनिवर्सिटी से सम्बद्ध कर दिया गया। 
 
सेंट स्टीफेंस कॉलेज का पहला भवन चांदनी चौक फिर बाद ने कश्मीरी गेट शिफ्ट किया गया। 
 
सन् 1922 में इसे दिल्ली युनिवर्सिटी से सम्बद्ध कर दिया गया। अब सेंट स्टीफेंस कॉलेज दिल्ली युनिवर्सिटी के नॉर्थ कैंपस में स्थित है।
 

4 – लेडी श्री राम महिला महाविद्यालय (LSR)

लेडी श्री राम महिला महाविद्यालय की स्थापना सन् 1956 में प्रोफेसर श्री राम द्वारा अपनी वाइफ फूलन देवी (लेडी श्री राम) की याद में दरियागंज दिल्ली में की थी। 
 
अब इस कॉलेज का परिसर लाजपत नगर में स्थित है। 
 
लेडी श्री राम महिला महाविद्यालय को साइंस के टॉप कॉलेज में गिना जाता है और यह दिल्ली यूनिवर्सिटी से सम्बद्ध है।
 

5 – लोयोला कॉलेज चेन्नई

लोयोला कॉलेज (Loyola College) भारत के सबसे पुराने कॉलेजेस में से एक है और इसकी स्थापना सन् 1925 में फ्रेंच पादरी फ्रेंसिस बर्ट्राम द्वारा की गई थी। 
 
यह एक स्वयंसंचालित (Autonomous) कॉलेज है जो मद्रास यूनीवर्सिटी से सम्बद्ध है।
 
इस कॉलेज का लोयोला नाम बॉक्स परिवार (Basque Family) के लोयोला सदस्यों के नाम पर है।
 
यह भारत के सबसे प्रसिद्ध और टॉप साइंस कॉलेज में से एक है।
 

6 – रामजस कॉलेज, दिल्ली

रामजस कॉलेज भारत के टॉप साइंस कॉलेज में से एक है। रामजस कॉलेज की स्थापना राय केदार नाथ ने सन् 1917 में की थी। 
 
पहले यह पंजाब यूनिवर्सिटी से सम्बद्ध था और सन् 1922 में दिल्ली यूनिवर्सिटी की स्थापना होने पर यह दिल्ली यूनिवर्सिटी से सम्बद्ध हो गया।
 
मनोज बाजपेई, प्रकाश झा, प्रवीण कुमार, प्रवेश राणा, राहुल रॉय, रणबीर सिंह हुड्डा, शेखर सुमन, सोमनाथ भारती ईत्यादि इसी कॉलेज में पढ़े हैं।
 

7 – सेंट जेवियर्स कॉलेज कोलकाता

सेंट जेवियर्स कॉलेज भारत के सबसे पुराने साइंस कॉलेज में से एक है और इसकी स्थापना सन् 1860 में ज्यूस सोसाइटी द्वारा की गई थी। 
 
यह एक ऑटोनॉमस कॉलेज है और कोलकाता युनिवर्सिटी से सम्बद्ध है। 
 
यह भारत के सबसे प्रतिष्ठित और सम्मानित कॉलेज में माना जाता है।
 
 

👇👇👇 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top