राहु की महादशा के उपाय क्या हैं | Rahu Ki Mahadasha Ke Upay

 

rahu ke upay, rahu ketu ke upay, rahu grah ke upay, rahu ki mahadasha ke upay

 

Rahu Ki Mahadasha Ke Upay – राहु एक दैत्य और छाया ग्रह माना जाता है। जब किसी पर राहु की महादशा चलती है तो यह 18 साल तक रहती है। 
 
क्योंकि राहु एक ग्रह में 18 महीने रहता है और फिर अपनी राशि परिवर्तन करता है। 
 
इस तरह सभी राशियों में 18 महीने गुजारता है और कुल  12 राशियां होती हैं। इसलिए राहु की महादशा 18 साल चलती है।
 
 

राहु की महादशा आपके लिए अच्छी भी हो सकती है और खराब भी। 
 
अगर आपका राहु उच्च का है तो राहु की महादशा आपके लिए बहुत लाभकारी साबित होगी। 
 
आपको जीवन में ऐसी सफलता दिलवाएगी की आप सोच भी नहीं सकते।
 
अगर आपका राहु नीच का है तो यह महादशा आपके लिए बहुत ही खराब साबित होगी। 
 
इसमें
आपकी समाज में बदनामी होगी, आपके ऊपर बहुत से कर्जे हो जायेंगे, स्वास्थ
भी ठीक नहीं रहेगा, कोई ना कोई दुर्घटना होती रहेगी, सारे काम अन्त समय में
आकर लटक जायेंगे।
 
 

राहु खराब होने के लक्षण – Kharab Rahu Ke Lakshan


राहु अगर खराब होता है तो वह आपको कुछ संकेत देता रहता है जैसे

1) खाने में बाल या कंकड़ निकलना 

2) बार बार चोट लगना

3) पेट के रोग होना

4) सर के बाल झड़ना

5) मन अशांत और विचलित रहना
 
 

राहु को खुश करने के उपाय – Rahu Ki Mahadasha Ke Upay


1) बहते पानी में नारियल बहाएं

2) गले में या हाथ में चांदी पहने

3) शादी के बाद ससुराल वालों से कुछ भी ना लें

4) राहु मंत्र का 108 बार जाप करें: ॐ रां राहवे नम:

5) शराब और मांस का सेवन ना करें, शराब और मांस राहु के बुरे प्रभाव को बढ़ा देती है

6) रोज काली चींटी को आटा खिलाएं

7) शिव जी पर रोज जलाभिषेक करें

8) राहु की ईष्ट देवी सरस्वती माता होती हैं। रोज 108 बार गायत्री मंत्र का पाठ करें राहु का बुरा फल खत्म हो जाएगा

9) किसी के पैसे मारने से राहु बहुत बुरा फल देता है। इसलिए ईमानदारी बरतें और किसी का एक पैसा भी उधर ना रखें।
 
10) किसी गरीब के दाह संस्कार में लकड़ी दान करने से राहु का बुरा प्रभाव खत्म हो जाता है।
 
11)
मस्तक पर चंदन का लेप लगाएं और अगर ना लगा पा रहें तो चंदन का इत्र या
परफ्यूम रोज लगाएं। यह बहुत ही प्रभावकारी होता है राहु को शांत करने में।
 
 
 
 
👇👇👇

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top