साइक्लिंग अर्थव्यवस्था के लिए कैसे हानिकारक है

cycle is bad for economy

 

आपको शीर्षक पढ़कर लग रहा होगा की ऐसा कैसे हो सकता है भला एक साईकिल चालक से देश की अर्थवव्यस्था को क्या खतरा हो सकता है। 
 
साईकिल तो प्रदूषण से बचाती है, शरीर को स्वस्थ रखती है, बढ़ते डीजल पैट्रोल से छुटकारा दिलाती है। लेकिन शायद आपको इस कथन के पीछे की गई गूढ़ बात नहीं समझ में आई। 
 
आईए आपको समझाते हैं की किस तरह एक साईकिल चालक देश के लिए एक दुर्भाग्य की तरह होता है।
 

साईकिल कैसे देश की अर्थव्यवस्था को डूबा सकती है

साईकिल चलाने के बहुत सारे फायदे हैं लेकिन ये फायदे इससे होने वाले नुकसान की तुलना में बहुत कम हैं। 
 
अगर आप साईकिल पर ही पूरी तरह निर्भर हैं तो आप कार या बाईक नहीं खरीदेंगे और इससे कार कम्पनी या बाईक कम्पनी में काम करने वाले लाखों लोग बेरोजगार हो जायेंगे। 
 
इसी तरह कार और बाइक का होने वाला इंश्योरेंस भी खत्म हो जाएगा और इंश्योरेंस सेक्टर में काम खत्म हो जाएगा और इससे जुड़े लाखों लोग सड़क पर आ जायेंगे। 
 
साईकिल की वजह से पैट्रोल, डीजल की खपत बहुत कम हो जायेगी और ये कंपनियां डूब जायेंगी। 
 
मोटर मैकेनिक के पास कोई काम नहीं रहेगा और इससे जुड़ी सारी कंपनी जो मोटर पार्ट्स और इंजन ऑयल बनाती हैं वो भी डूब जायेंगी। टायर कम्पनी की भी बिक्री बंद हो जाएगी और सारे उपक्रम बंद करने पड़ेंगे। 
 
कार और बाईक पार्किंग के लिए जो शुल्क लिया जाता है वो बंद हो जायेगा और इससे जुड़े लोग अपनी जीविका खो देंगे।
 
कार बाईक से आए दिन होने वाले एक्सीडेंट बंद हो जायेंगे और साईकिल चलाने से लोग स्वस्थ रहेंगे जिससे हॉस्पिटल और डॉक्टर का खर्चा बहुत कम हो जायेगा और इन क्षेत्रों से जुड़े लाखों लोग खाने के लिए तरसने लगेंगे।
 
दवा कम्पनी के पास अधिक काम नहीं बचेगा और दवा कम्पनी कुछ बीमारियों की ही दवाईयां बनाएगी जिससे दवाई की कीमत बहुत अधिक बढ़ जायेगी। 
 
इसी तरह साइकिल चलाने वालों को कोई बहुत खास रोड़ नहीं चाहिए होती है तो ट्रांसपोर्ट सिस्टम में काम करने वाले लोगों के पास काम नहीं बचेगा।
 
इन सब से जुड़े सारे सरकारी उपक्रम बंद हो जायेंगे। 
 
अब आप अंदाजा लगा सकते हैं की कितनी बड़ी संख्या में लोग बेरोजगार हो जायेंगे शायद करोड़ों से भी अधिक और ये सब लोग जीविका के लिए उल्टे सीधे काम करेंगे जिसके कारण देश को  अफगानिस्तान या सीरिया जैसे देश बनने में देर नहीं लगेगी।
 
यहां तो मैंने बहुत ही कम एग्जांपल दिए हैं लेकिन वास्तव में देश की स्थिति इससे भी भयानक होगी। 
 
अब आप समझ सकते हैं की एक साईकिल चालक देश की अर्थव्यवस्था के लिए कितना खतरनाक होता है। 
 
हालांकि यह बात बड़े और विकासशील देशों पर अधिक लागू होती है जैसे भारत, चीन, ब्राजील, पाकिस्तान, बांग्लादेश ईत्यादि। 
 
छोटे और विकसित देशों पर इसका कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा क्योंकि वहां की जनसंख्या इतनी नहीं है जैसे जापान।
 
 
 
👇👇👇

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top